10/31/2008

"दिल"


"दिल"
मुहब्बत से रहता है सरशार ये दिल,
सुबह शाम करता है बस प्यार ये दिल.
कहाँ खो गया ख़ुद को अब ढूँढता है,
कहीं भी नहीं उसके आसार-ऐ-दिल.
अजब कर दिया है मोहब्बत ने जादू,
सभी डाल बैठा है हथियार ये दिल.
यही कह रहा है हर बार ये दिल,
बस प्यार-ऐ-दिल बस प्यार-ये दिल.
युगों से तड़पता है उसके लिये ही,
मुहब्बत में जिसकी है बीमार ये दिल
उसकी है यादों में खोया हुआ वो,
ज़रा सोचो है कितना बेकरार ये दिल.
अब अपने खतों में यही लिख रहा है,
तुम्हारा बस तुम्हारा कर्जदार ये दिल

25 comments:

ताऊ रामपुरिया said...

अब अपने खतों में यही लिख रहा है,
तुम्हारा बस तुम्हारा कर्जदार ये दिल
बहुत लाजवाब ! सही में पढ़ कर कुछ २ होता है ! रचना दिल को छूती है ! शुभकामनाएं !

Rakesh Kaushik said...

it's nice!


impressive

PN Subramanian said...

अच्छा लगा. अंताक्षरी के तर्ज पर "दिल" से मुझे एक पुराने गीत के बोल याद आ गये.
"या दिल कि सुनो दुनिया वालों या मुझ को अभी चुप रहने दो, मैं गम को खुशी कैसे कह दूँ, जो कहते हैं उनको कहने दो"
आभार.

ranjan said...

बहुत खुब..

फ़िरदौस ख़ान said...

मुहब्बत से रहता है सरशार ये दिल,
सुबह शाम करता है बस प्यार ये दिल.
कहाँ खो गया ख़ुद को अब ढूँढता है,
कहीं भी नहीं उसके आसार-ऐ-दिल.

बहुत ख़ूब...

जितेन्द़ भगत said...

अच्‍छी पंक्‍ति‍यॉं-
अजब कर दिया है मोहब्बत ने जादू,
सभी डाल बैठा है हथियार ये दिल.

श्रीकांत पाराशर said...

Dil ki baaten dil se kahi hain aapne. Bahut khoob.

'sakhi' 'faiyaz'allahabadi said...

Seema,
Khamosh Ghazipoori ka ek sher yaad aa gaya likh raha hoon:
ye rabt-e-muhabbat bhi kya rabt-e-muhabbat hai
dil unka wahan dhadka ..aawaaz yahaan aayee
..................aur anaayas hee ek gana dil mein gungnaahat kar rahaa hai:
koi saghar dil ko bahlaata naheen
bekhudi mein bhi karar aataa naheen
...................aur ek doosra:
yaad kiya dil ne kahaan ho tum

COMMON MAN said...

kuchh dino me ho jaayega bekaar ye dil, lekin majaa aa gaya

प्रदीप मानोरिया said...

लाज़बाब सुंदर शब्द सयोंजन से उत्तम भावः

manvinder bhimber said...

मुहब्बत में जिसकी है बीमार ये दिल
उसकी है यादों में खोया हुआ वो,
ज़रा सोचो है कितना बेकरार ये दिल.
अब अपने खतों में यही लिख रहा है,
तुम्हारा बस तुम्हारा कर्जदार ये दिल लाज़बाब सुंदर शब्द सयोंजन से उत्तम भाव.....

मीत said...

उसकी है यादों में खोया हुआ वो,
ज़रा सोचो है कितना बेकरार ये दिल.
अब अपने खतों में यही लिख रहा है,
तुम्हारा बस तुम्हारा कर्जदार ये दिल
बहुत सुंदर...
सच में दिल तो दिल है...बस

PREETI BARTHWAL said...

यही कह रहा है हर बार ये दिल,
बस प्यार-ऐ-दिल बस प्यार-ये दिल.
बहुत सुन्दर
दिल ही दिल, दिल ही दिल

अनुपम अग्रवाल said...

यादें उसकी ना जाने कहाँ खो गयी
फ़िर भी माना गया गुनाहगार ये दिल
ना तो ख़त ही मिला ना मोहब्बत मिली
फ़िर भी करता मोहब्बत का इकरार ये दिल

सचिन मिश्रा said...

Bahut khub.

विनय said...

ye dil to paagal hai, good work.

निरन्तर - महेंद्र मिश्रा said...

बस प्यार-ऐ-दिल बस प्यार-ये दिल.
युगों से तड़पता है उसके लिये ही,
Dil to hai Dil hai Bekaraar kya cheej hai aa unapar pyaar kya cheej hai.bhavanapoorn rachana . bas likhati rahiye. dhanyawad.

Yogesh said...

Bahut hi badhia rachna seema ji

Dil ko chhoo gayee...bas ek kami jo hai wo aapko batana chahooonga

Please change this line

यही कह रहा है हर बार ये दिल,

This line should not end with a word dil...

"Arsh" said...

अजब कर दिया है मोहब्बत ने जादू,
सभी डाल बैठा है हथियार ये दिल.
बहोत खूब सीमा जी बहोत ही सुंदर से सहेज के लिखा है सरल भाषा में .. आपको ढेरो बधाई....

अर्श

राज भाटिय़ा said...

बहुत सुंदर, यह पागल दिल.
धन्यवाद

बवाल said...

Main chup rahoonga. Ye ghayal ke saath qaayaal kar dene vaali rachna hai. Siddh hua ke aap aaphe hain Seemaajee. Koyee saani nahin aapka.

dr. ashok priyaranjan said...

बहुत अच्छा िलखा है आपने । भाव की दृिष्ट से किवता बडी प्रभावशाली है ।ं

http://www.ashokvichar.blogspot.com

"SURE" said...

Dil par aapki ye ek rachna nahi hai jiski tareef ya koi comment kiya jaye...dil to apka main theme rahta hai..ya yun kahe ki aap dilwali poetess ho... dil hi dil.har taraf dil hi to hai,its your passion na...i salute your love to heart( heart shapes).
gulam ali sahib ki gai ek gazal ke bol..
ye dil ye pagal dil mera kyun bhujh gaya aavaargi...
yaad aa rahe hai..
dhanyavaad aur bahut kuchh padhne dekhne ki tamanna me ye dil

bhoothnath said...

मुझको बड़ा ही प्यारा है ये दिल !!
अक्सर बड़े सवाल करता है ये दिल ....

अक्सर ही मुझसे रूठ जाता है ये दिल !!

पहना हुआ है मैंनें इसपे तो ख़ुद को....

अक्सर मुझे उघाड़ जाता है ये दिल !!

तनहा भी रहना चाहूँ तनहा होने न दे...

अक्सर मुझपे सवार हो जाता है ये दिल !!

करता हूँ जब भी मैं बुद्धि भरी जो बातें....

अक्सर जा के दूर बैठ जाता है ये दिल !!

शरमाया-शरमाया रहता तब मुझसे है....

अक्सर किसी पे जब आता है ये दिल !!

प्यार बहुत ही करता हूँ हाय इससे मैं ....

मुझको बड़ा ही प्यारा "गाफिल" है ये दिल !!

mukesh said...

apki tarif ke liye mere pass koi lafz jese bacha hi nhi hai, bus itna hi kahunga ....



bahut kuhb seema ji ....



bus pyar ea dil, bus pyar ea dil