7/06/2014

Ghazal- मेरे चेहरे पे जो कहानी है

Lyrics/ Graphics: Seema Gupta
Singer / Composer - Naushad Malik
-----------------------------------------------------
मेरे चेहरे पे जो कहानी है
मेरे दिल की ही तर्जुमानी है

नींद आँखों में जागती ही रही
गरचे रातों की ख़ाक छानी है

उसकी सूरत ग़ज़ल में ढाली है
उस में तस्वीर अब बनानी है

दो घडी के लिए ही आ जाओ
छोडिये जो भी बदगुमानी है

जोड़ना दिल से दिल नहीं मुश्किल
एक दीवार बस गिरानी है

इस में खुशियाँ बिखेर दे सीमा
चार दिन के ये जिंदगानी है

4/30/2014

"उस रात की बात.... "


"उस रात की बात.... "

चांदनी की सरगोशियाँ में

नहा कर मचलता

सियाह रात का हुस्न

उसपे बेख़ौफ़ होकर तेरे बाजुओं में

रुसवाइयों की थकन का पनाह पा जाना

लबों की चुप्पियों में दफ़न

इश्क का वो अंगारा

अचानक से

जिस्म की सरहदों से

झाँकने लगा है

कब तक छुप सकेगी

जमाने से आखिर

"उस रात की बात.... "

4/23/2014

"दुष्यंत की अंगूठी "


"दुष्यंत की अंगूठी "

मेरी ठिठकी हुई पलकों में 
सदियों से उलझा एक लम्हा 
जिसे अपनी आँखों से छु कर
तुने मेरे नाम कर दिया था
और तेरे अश्क के एक कतरे ने
तुझसे छुप कर
मेरी आँखों में पनाह ली थी
इश्क की अधूरी चांदनी का
हिसाब मांगने ज़िद पे उतर आया है
सिसकने लगा है मेरी हथेली पे
वो बदनसीब कतरा भी
दुष्यंत की अंगूठी की तरह 

10/22/2013

चाँद मुझे लौटा दो ना

चाँद मुझे लौटा दो ना 

चंदा से झरती 
झिलमिल रश्मियों के बीच
एक अधूरी मखमली सी 
ख्वाइश का सुनहरा बदन
होले से सुलगा दो ना 
इन पलकों में जो ठिठकी है
उस सुबह को अपनी आहट से
एक बार जरा अलसा दो ना
बेचैन उमंगो का दरिया
पल पल अंगडाई लेता है
आकर फिर सहला दो ना
छु कर के अपनी सांसो से 
मेरे हिस्से का चाँद कभी 
मुझको भी लौटा दो ना

4/23/2013

"FAKHR-E-HIND" AWARD (PROUD OF NATION) To Seema Gupta By President Of India-Smt. Pratibha Devisingh Patil

Husan Ara Trust Presents"FAKHR-E-HIND" AWARD (PROUD OF NATION) To Seema Gupta By President Of India-Smt.  Pratibha Devisingh Patil-in following event held on 22nd April 2013

"Jashn-e-Abul Kalaam Azad"
 — at India Habitt Center, Lodhi Road New Delhi.